Monday, June 1, 2009

दोस्त........









दोस्त
वो नहीं जो साथ चल रहा है तेरे,
दोस्त वो है, जिसकी दोस्ती तेरे पास हो,

दोस्त
वो नहीं जो तेरी खुशियों में शामिल रहे,
दोस्त वो है, जो तेरे गमो का साहिल रहे,

दोस्त
वो नहीं तू अपनी बात कह सके जिससे,
दोस्त वो है, जिसे तेरे दर्द का अहसास हो,

दोस्त
वो नहीं जो दे ढेरों उपहार तुझे,
दोस्त वो है, जिसके पास प्यार की सौगात हो,

दोस्त
वो नहीं जो आंसू पोछ दे तेरे,
दोस्त वो है, तेरे आंसू जिसके पास हो,

नहीं
अबतक तो नहीं मिला ऐसा दोस्त मुझे,
दुआ करो की ऐसा दोस्त मेरे पास हो ...

9 comments:

  1. wow!priynka...g8 job....impressed...be my frnd....

    ReplyDelete
  2. dost ki achhi paribhasha vyakt ki aapne/
    aaz ke jamane me esa dost mil jaye to waah baat hi kya/

    ReplyDelete
  3. दोस्त वो नहीं जो आंसू पोछ दे तेरे,
    दोस्त वो है, तेरे आंसू जिसके पास हो,

    Beautiful !

    ReplyDelete
  4. aaj aapki saari kavitayen padhi .. aap bahut accha likhti hai .saari kavitao me bhaavo ki abhivyakti bahut hi shaandar tareeke se ho rahi hai ...shabdo ka asar dil me gahre utar jaata hai..is kavita me aapne dosti ke shades ko kitne asardaar tareeke se darshaya hai ...

    aapko badhai ...

    meri nayi poem " tera chale jaana " par apni bahumulay rai dijiyenga ..
    http://poemsofvijay.blogspot.com/2009/05/blog-post_18.html


    aabhar

    vijay

    ReplyDelete
  5. dosti ki bahut hi achchi definition likhi hai...... gr8........

    Thanx for sharing.........


    Aur haaan!!!!!!!

    Once again thanx for ur nice and wondeful comment.........

    Regards

    ReplyDelete
  6. दोस्त वो नहीं जो साथ चल रहा है तेरे,
    दोस्त वो है, जिसकी दोस्ती तेरे पास हो,

    in 2 panktiyoN meiN hi aapne dost aur dosti ka
    poora phalaspha keh dala hai.
    Aur duaaeiN....
    dheroN duaaoN ke sath..har pal, har waqt

    ---MUFLIS---

    ReplyDelete
  7. nice poetry as usual u r just gr8

    ReplyDelete
  8. "दोस्त वो नहीं जो तेरी खुशियों में शामिल रहे,
    दोस्त वो है, जो तेरे गमो का साहिल रहे,"

    सही और बहुत सुंदर

    "दुआ करो की ऐसा दोस्त मेरे पास हो ..."

    शुभकामनाएं

    ReplyDelete